SCOPE FOR COMMERCE WITHOUT MATHS : 12 वीं में कॉमर्स के साथ मैथ नहीं लिया , फिर भी करियर के लिए ये है अच्छे विकल्प

 

 

कॉमर्स विदाउट मैथ कोर्स : करियर की चिंता सबसे ज्यादा छात्रों को होती है 10वीं के बाद सब सब्जेक्ट चुनने की बारी आती है तो कई छात्रों को समझ नहीं आता कि आखिर कौन सा विकल्प चुने । जिससे उनका सुनहरा और मजबूत करियर बन सके । कई छात्रों को जिन्हे मैथ पसंद नहीं होती है वे छात्र कॉमर्स बिना मैथ के कर लेते है ऐसा बिल्कुल नहीं है कि यह कोर्स करने के बाद उनके लिए करियर के सभी दरवाजे बन्द हो गए है । ऐसे बहुत डिप्लोमा और डिग्री कोर्स है जिससे वह अपना शानदार करियर बना सकते है । प्रोफेशनल कोर्स उपलब्ध है हम आपको बताने जा रहे की ऐसे कौन से कोर्स है जिन्हे ये छात्र कर करियर बना सकते है ।

अंडर ग्रेजुएट कोर्स , बी कॉम प्रोग्राम

बी कॉम यानी बैचलर ऑफ़ कॉमर्स तीन साल का अंडर ग्रेजुएट कोर्स है । बी कॉम स्ट्रीम में सबसे ज्यादा पसंद किए जाने वाला कोर्स है कई छात्र इसे पहली पसंद बताते है । इस कोर्स को चुनने वाले छात्रों को फाइनेंशियल, कारपोरेट टैक्स,सांख्यिकी , मैनेजमेंट , ऑडिटिंग, कम्पनी लॉ,साथ ही बिजनेस से जुड़े टॉपिक को पढ़ाया जाता है । बी कॉम कोर्स के लिए दाखिले का स्वरूप बोर्ड की योग्यता के आधार पर होता है ।

होटल मैनेजमेंट

पिछले एक दशक से होटल मैनेजमेंट का छात्रों के प्रति पसंद और रुझान अधिक देखा गया है । नई तकनीक के आने साथ हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्री में जॉब के अवसर तेजी से बढ़ते देखे जा रहे है ।बीएससी, बी ए , बी बी  ए होटल मैनेजमेंट कोर्स 12वीं के बाद कर सकते है यह 3-4 साल का डिग्री प्रोग्राम है । अगर आप होटल मैनेजमेंट कोर्स के लिए दाखिला लेना चाहते है तो आपको पहले प्रवेश कर और फिर साक्षात्कार देना होगा । कॉमर्स करने वाले छात्र इस विकल्प को चुन सकते है ।

मास कम्युनिकेशन

पिछले कुछ सालों से मास कम्युनिकेशन फिल्ड में तेजी देखने को मिली है भारत ही नहीं विदेशों में भी मास कम्युनिकेशन ने एक अलग जगह बनाई है । यह कोर्स इच्छुक छात्रों के लिए ही अवसर प्रदान करता है । आज दुनियाभर में मीडिया का ऐसा बोलबाला है और उसकी चमक धमक से छात्र इस कोर्स के लिए उत्सुक रहते है। इतना ही नहीं दुनियाभर के डिजिटल मीडिया में वृद्धि के साथ , सोशल मीडिया मैनेजर, डिजिटल मार्केटिंग , ब्लॉगर, शोध, ग्राफिक्स डिजाइनर, कंटेंट राइटर, एंकरिंग , रिपोर्टिंग ,और कॉपी राइटर जैसे कई करियर उपलब्ध है । देशभर में सरकारी और प्राइवेट संस्थान मास कम्युनिकेशन कोर्स कराते है।  संस्थान प्रवेश परीक्षा और साक्षत्कार के आधार पर दाखिला देते है । सभी संस्थानों की फीस अलग अलग होती है । कॉमर्स के बाद छात्र यह विकल्प चुन सकते है ।

चार्टर्ड अकाउंटेंट

चार्टेड अकाउंटेंट एक प्रोफेशनल कोर्स है ।कई युवाओं में  देखा गया है कि सामने विकल्प होते हुए भी अजनबी हो जाते है लेकिन उनके लिए चार्टर्ड अकाउंटेंट यानी CA बनने का सुनहरा मौका होता है कॉमर्स के छात्र अगर यह विकल्प चुनते है तो उन्हें शानदार करियर मिलेगा और पैसे भी खूब मिलते है  CA एक कोर्स होता है छात्र का किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड या विश्वविद्यालय से 50% अंको के साथ 12वीं पास होना जरूरी है। आपको बता दें कि 12वीं के बाद CA कोर्स 5 वर्ष की अवधि है इंटरमीडिएट के बाद छात्र CA फाउंडेशन कोर्स के लिए योग्य हो जाते है । CA इंटरमीडिएट के किसी भी वन ग्रुप को क्लियर करने के बाद आवेदक तीन साल के लिए आर्टिकलशिप ट्रेनिंग के लिए पात्र होते है इसके बाद आपको CA फाइनल परीक्षा की तैयारी के लिए 5 महीने की अध्यन के लिए समय मिलेगा फिर आप पूरी तरह चार्टर्ड अकाउंटेंट बन सकते है । आज CA की मांग जोरो कर है ।

Leave a Comment