बातचीत: ‘पंख एक नई उड़ान’ के संकलक कुमार शिवम के साथ

कुमार शिवम “पंख – हौसलों की उड़ान” के संस्थापक हैं। उन्होंने मुंबई विश्वविद्यालय से स्नातक और माखनलाल पत्रकारिता विश्वविद्यालय से मीडिया में स्नाकोतर किया है। शिवम ने अब तक मुंबई, रांची, कोलकाता, मुजफ्फरपुर जैसे कई शहरों में अपनी प्रस्तुति दी है और पंख के माध्यम से युवा कलाकारों को अभिव्यक्ति के लिए मंच भी प्रदान कर रहे हैं। पेश है उनसे की गई बातचीत का एक छोटा सा हिस्सा :

Be-JAGRUK : शिवम, इनदिनों आपकी किताब ‘पंख – एक नई उड़ान’ चर्चा में है। इस किताब के बारे में हमें ज़रा बताइये!

कुमार शिवम : यह एक Anthology है और मैं इस किताब का ‘संकलक’ हूँ। इस किताब में कुल 17 युवा लेखकों की रचनाएँ छपी हैं। सभी लेखक प्रतिभाशाली हैं और साहित्य में गहरी दिलचस्पी रखते हैं।

Be-JAGRUK : किस तरह की रचनाएँ छपी हैं? क्या इसमें कहानियाँ भी हैं?

कुमार शिवम : नहीं, कहानियाँ नहीं है। यह कविता की किताब है। आप इसमें गीत, कविताएं और ग़ज़ल पढ़ सकते हैं। इस किताब की हर एक रचना एक से बढ़कर एक है।

Be-JAGRUK : इस किताब का ख्याल कैसे आया?

कुमार शिवम : मैं जब भी सोशल मीडिया पर अपनी कविताएँ पोस्ट करता था मुझे कई लोगों के मैसेज आते थे कि वो मेरी कविताएँ Publish करना चाहते हैं। मगर इसके लिए मुझे पैसे देने होंगे। मुझी उन लोगों की यह बात खटकती थी। मैं चाहता था कि किसी भी रचनाकार को अपनी रचनाएँ छपवाने के लिए पैसे ना देने पड़ें। इसलिए अंततः मैंने निर्णय लिया कि मैं खुद अपनी कविताएँ Publish करूँगा और जितने लोग भी मेरे साथ Publish होंगे मैं उनसे एक रुपये भी नहीं लूंगा। इस तरह यह किताब की शुरुआत हुई और आज यह किताब आप सबके सामने पेश है।

Be-JAGRUK : कितने लोगों की कविताएँ छपी हैं? और यह किताब हम कहा से खरीद सकते हैं?

कुमार शिवम : देशभर से कुल 17 लेखकों की रचनाएँ छपी हैं। अभिजित अयंक, अंजनी कुमारी, आदर्श आहिल, अमित झा राही, अंकित मौर्य, अनमोल सावरण, अनुराग सुशांत, दिव्य कमलध्वज, मनीष चंद्र देव, प्रतीक सौरभ, सैकत माझी, संस्कृति भारती, शिखा शर्मा पचौली, श्वेता सिंह, सोनू रोहित, विनीत शंकर और कुमार शिवम की रचनाएँ आपको इस किताब में पढ़ने मिलेगी। आप इस किताब को Amazon, Flipkart और Kindle पर खरीद सकते हैं।

(Amazon –https://www.amazon.in/dp/B09N18CS97/ref=cm_sw_r_apan_glt_fabc_D0QKZ41YN6GYD6PVZYZY

Flipkart – https://dl.flipkart.com/s/ZGRPX9uuuN

Kindle –https://www.amazon.in/dp/B09N2CPNQC/ref=cm_sw_r_apan_glt_QCHJG93HM75G5BHZDB35)

Be-JAGRUK : आपके पसंदीदा लेखक कौन हैं? और आपकी सबसे प्रिय किताब कौन सी है?

कुमार शिवम : मैंने बहुत ज्यादा लेखकों को नहीं पढ़ा है मगर जितना भी पढ़ा है उनमें से अंजुम रहबर, कुमार विश्वास, दुष्यंत कुमार, शिव कुमार बटालवी, बाबा नागर्जुन और अमृता प्रीतम मुझे बहुत अच्छे लगते हैं। और मेरी सबसे ज्यादा पसंदीदा किताब राष्ट्रकवि दिनकर की रश्मिरथी और हरिवंश राय बच्चन की मधुशाला है। मैं इन किताबों को कई दफ़ा पढ़ चुका हूँ।

Be-JAGRUK : खाली समय में आप क्या करते हैं?

कुमार शिवम : मुझे घूमने फिरने का बहुत शौक है। नयी नयी जगह Explore करता रहता हूँ। प्रकृति ने जुड़ाव बचपन से रहा है। जब भी वक़्त मिलता है किसी नदी किनारे बैठ जाता हूँ और पर्यावरण की सौम्यता महसूस करता हूँ।

Be-JAGRUK : हमसे बात करने के लिए आपका आभार और भविष्य के लिए बहुत बहुत शुभकामनाएं। हमें आपके आने वाले प्रोजेक्ट्स का इंतजार रहेगा।

कुमार शिवम : जी, आपका भी बहुत बहुत शुक्रिया इस इंटरव्यू के लिए। आशा है दोबारा मुलाकात होगी। आप लोगों को भी भविष्य के लिए शुभकामनाएँ।

Leave a Comment