KAMGAR SETU PORTAL : ग्रामीणों और प्रवासी मजदूरों के लिए वरदान साबित हो रही कामगर पोर्टल

 

कामगार पोर्टल: केंद्र से लेकर राज्य सरकारें ग्रामीण स्तर को सकुशल बनाने के लिए कई योजनाएं  संचालित करती रहती है जिससे ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को परेशानी का सामना न करना पड़े और उनका जीवन यापन अच्छा बना रहे। इसी कड़ी में हम आपको एक ऐसी योजना के बारे में बताएंगे जिसे मध्य प्रदेश सरकार ने शुरू किया है इस योजना से मध्य प्रदेश के गांव  के लोगों को कहीं बाहर नहीं जाना पड़ेगा । दरअसल मध्य प्रदेश सरकार ने कामगार सेतु योजना की शुरुआत की है आखिर यह योजना क्या है सरकार का इसे शुरू करने के पीछे क्या मकसद है इस योजना से किसे लाभ मिलेगा । इन सभी बातों को हम इस आर्टिकल के माध्यम से जानेंगे। आपको पूरी जानकारी चाहिए तो आर्टिकल को अंत तक पढ़ना पड़ेगा ।

क्या है कामगार सेतु पोर्टल

आपको बता दें कि ग्रामीण कामगार सेतु योजना की शुरुआत एमपी के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने 8 जुलाई 2020 को की थी ।यह योजना ग्रामीण क्षेत्रों के प्रवासी मजदूरों, सड़क विक्रेता, फेरी वाला ,रिक्शा चालक आदि को लाभ पहुंचाने के लिए शुरू की थी। इस योजना के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों के रेडी वाले, प्रवासी मजदूर को नवीन व्यापार को शुरू करने के लिए सरकार द्वारा बैंक के माध्यम दस हजार रूपए का ऋण भी उपलब्ध कराया जाएगा। जिससे वह स्वयं का व्यापार शुरू कर सके । मध्य प्रदेश सरकार ने कामगार सेतु पोर्टल लॉन्च करके ग्रामीणों को बहुत लाभ पहुंचाया है आपको बता दें कि इसका लाभ केवल ग्रामीण क्षेत्रो के पुराने उधमिता प्रवासी मजदूरों को नए तरीके से कारोबार शुरू करने के लिए होगा। इसके जरिए खुद का कहीं भी व्यवसाय शुरू कर सकते है। इसका लाभ लेने के लिए आपको आवेदन करना होगा। आप ऑनलाइन आवेदन कर सकते है आवेदन के लिए आपको सरकारी दफ्तर नहीं जाना पड़ेगा।

किसे मिलेगा लाभ

* इस योजना का लाभ सिर्फ मध्य प्रदेश के ग्रामीण स्तर के नागरिक जैसे स्ट्रीट वेंडर, रेडी वाले, ठेलेवालों को मिलेगा। 
* मध्य प्रदेश में ग्रामीण स्तर के लोगों को खुद का व्यवसाय शुरू करने के लिए सरकार 10 हजार का ऋण देगी 
* मुख्यमंत्री ग्रामीण स्ट्रीट वेंडर ऋण योजना के तहत ब्याज की पूरी राशि सरकार वहन करेगी ।
* इस योजना के अंतर्गत शहरी स्ट्रीट वेंडर की तरह ग्रामीण स्तर के लोगों को दस हजार का ऋण दिया जाएगा।

ग्रामीण कामगार सेतु योजना के दस्तावेज और पात्रता

* आवेदनकर्ता मध्य प्रदेश का स्थाई निवासी होना चाहिए 
* इस योजना का लाभ सिर्फ स्ट्रीट वेंडर ले सकते है 
* आवेदक की उम्र 18 से 55 वर्ष होनी चाहिए 
* आवेदनकर्ता का जाति और मजहब से कोई मतलब नहीं सभी पात्र होंगे 
* किसी भी प्रकार की शैक्षिक योग्यता का प्रमाण पत्र होना चाहिए 
* आधार कार्ड होना चाहिए
* बैंक डिटेल जरूरी है 
* निवास प्रमाण पत्र होना चाहिए 
* मोबाइल नंबर होना चाहिए 
* पासपोर्ट साइज फोटो होनी चाहिए

कैसे करें आवेदन

अगर आप मध्य प्रदेश के निवासी है और ग्रामीण क्षेत्रों से ताल्लुक रखते है आप ग्रामीण कामगार सेतु पोर्टल का लाभ उठाना चाहते है तो आपको एमपी सरकार की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। जहां एक पेज खुलेगा जिसमे आपको अपनी जानकारी भरनी होगी। 
 

Leave a Comment