आत्मनिर्भर भारत योजना क्या है और कैसे घर बैठे कर सकते है आप रजिस्ट्रेशन , जानिए

COVID-19 महामारी ने भारतीय अर्थव्यवस्था और समाज को विभिन्न तरीकों से प्रतिकूल रूप से प्रभावित किया है। इस लेख में, आप आत्मानिर्भर भारत अभियान का विवरण पढ़ सकते हैं – जो कि केंद्र सरकार द्वारा घोषित पूर्ण आर्थिक प्रोत्साहन पैकेज को दिया गया नाम है। यह यूपीएससी पाठ्यक्रम के अर्थव्यवस्था, राजनीति, आपदा प्रबंधन और समसामयिक मामलों के खंडों के अंतर्गत आता है। भारत के 72 वें गणतंत्र दिवस (2021) पर आत्मानिर्भर भारत अभियान पर प्रकाश डाला गया। जैव प्रौद्योगिकी विभाग ने अपनी झांकी में COVID-19 वैक्सीन विकास प्रक्रिया को प्रदर्शित किया।

आत्मानिर्भर भारत योजना के राहत पैकेज के अंतर्गत महत्वपूर्ण क्षेत्र
मेक इन इंडिया ( make in india mission )
निवेश को प्रेरित करना (Provide Good Investment Opportunities)
सरल और स्पष्ट नियम कानून (Rational Tax System)
नए व्यवसाय को प्रेरित करना (To Motivate New Business)
उत्तम आधारिक संरचना (Reformation Of Infrastructure)
समर्थ और संकल्पित मानवाधिकार ( Capable Human Resources)
बेहतर वित्तीय सेवा (A Good Financial System)
कृषि प्रणाली (Reformation Of Agricultural Supply Chain & System)

आत्मानिर्भर भारत का उद्देश्य क्या है?
इसका उद्देश्य देश और उसके नागरिकों को हर तरह से स्वतंत्र और आत्मनिर्भर बनाना है। आत्मनिर्भर भारत के पांच स्तंभ अर्थव्यवस्था, बुनियादी ढांचा, प्रणाली, जीवंत जनसांख्यिकी और मांग है।

आत्मनिर्भर भारत अभियान के लिए ऑनलाइन कैसे करे रजिस्टर ?
आत्मनिर्भर भारत अभियान योजना के लिए रेजिस्ट्रेशन करने के लिए सबसे पहले आपको ऑफिसियल वेबसाइट aatmanirbharbharat.mygov.in पर जाना होगा। इसके बाद आपकी स्क्रीन पर होम पेज खुल जायेगा। यहां होम पेज में रजिस्टर के लिंक पर क्लिक करने के बाद आपकी स्क्रीन पर रजिस्टर करने के लिए आवेदन फॉर्म खुल जायेगा। अब आप फार्म में नाम, मोबाइल नंबर, ई मेल, जन्मतिथि, और लिंग को लिखना होगा। इसके बाद आप क्रिएट अकाउंट के लिंक पर क्लिक करें। अब एक नया पेज खुल जायेंगा। अब आप इस पेज मेंरजिस्टर मोबाइल नंबर डाले। जिसके बाद आपके पास एक ओटीपी आएगा। ओटीपी के बाद आपका मोबाइल नंबर सत्यापित हो जायेगा। अब आपकी ई -मेल पर आपकी आईडी और पासवर्ड आ जायेगा। और आपका ऐसे रेजिस्टर हो जाएगा।

आत्मानिर्भर भारत अभियान
आपको बता दें कि केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा मई 2020 में चार चरणों में आत्मानिर्भर भारत अभियान (अर्थात् आत्मनिर्भर भारत योजना) की घोषणा की गई थी। इसके तहत 20 लाख करोड़ रुपये का आर्थिक प्रोत्साहन राहत पैकेज घोषित किया गया। इसमें गरीबों के लिए पहले से घोषित 1.70 लाख करोड़ रुपये का राहत पैकेज, पीएमजीकेवाई के रूप में, गरीबों के लिए कोरोनोवायरस महामारी और इसके प्रसार को रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन के कारण होने वाली कठिनाइयों को दूर करने के लिए शामिल किया गया।

Leave a Comment