Food science and technology :फूड साइंस क्षेत्र हर दौर की जरूरत बन रही

तकनीक की दुनिया में कई ऐसे क्षेत्र है जहां हर कोई कुछ नया बनना और सीखना चाहता है । उनमें से एक है फूड साइंस एंड टेक्नोलॉजी जिसकी ओर युवाओं का रुझान तेजी से बढ़ा है करोना काल में भी देश में कई ऐसे क्षेत्र नजर आए है जिन्होंने दिन दुगनी और रात चौगनी की हो ।और फूड साइंस एंड टेक्नोलॉजी पर तो युवाओं ने अपना माइंड मेकअप कर लिया । और एक आकर्षक करियर के रूप में नजर आया ।

वैसे भारत में अगर आप देखें तो पिछले कुछ वर्षो से प्रोसेस्ड फूड की मांग बढ़ी है और सरकार भी इस इंडस्ट्री की ओर ध्यान दे रही है व्यापार के लिए यह अच्छा क्षेत्र माना जा रहा है लोग कम निवेश पर बेहतर कारोबार कर रहे है और खूब पैसे कमा रहे है । तो आइए देर न करते हुए समझते है इसकी पूरी प्रक्रिया ।

आखिर फूड टेक्नोलॉजी क्या है

नाम सुनते ही समझ आ गया की यह खाने से जुड़ी बात है दरअसल पके हुए भोजन में कुछ परिवर्तन करने का कार्य एवम फिजिकल और रासायनिक साधनों द्वारा भोजन को बनाने तथा अन्य रूप में बदलने की तकनीक को ही फूड टेक्नोलॉजी कहते है यह हमारे विज्ञान की एक शाखा है जिसके तहत किसी भी खाद्य उत्पाद के भौतिक और रासायनिक को माइक्रोबायोलॉजीकल का अध्यन इसी मे किया जाता है|

इसके बाद फूड टेक्नोलॉजी मे मैन्युफैक्चरिंग प्रोसेस के तहत कच्चे उत्पाद दूध, मीट, अनाज, सब्जी को भौतिक क्रिया में बदलकर खाने योग्य बनाया जाता है। साथ ही वैल्यू एडेड प्रोसेस में इन्हे कच्चे खाद्य पदार्थो में कई ऐसे बदलाव भी करते है जिससे उन्हें सुरक्षित खाने लायक बनाया जाता है खाद्य पदार्थो के भंडारण , परीक्षण और उनकी पैकेजिंग इसी फूड टेक्नोलॉजी का हिस्सा है ।

इस फील्ड में कैसे करें शुरुआत

अगर आप इस फील्ड में अपना करियर बनाने के लिए मन बना चुके है तो सबसे पहले रुचि होनी चाहिए । इसके बाद आपका 10+2 फिजिक्स , केमिस्ट्री, मैथ, या बायोलॉजी सहित कम से कम 50 प्रतिशत अंकों से पास होना जरूरी है । इसके बाद आप बैचलर कोर्स में एडमिशन ले सकते है और सर्टिफिकेट कोर्स, मास्टर एवम डिप्लोमा में प्रवेश के लिए स्नातक होना जरूरी है ।

अगर आपने होम साइंस, न्यूट्रिशियन डायटिशियन, और होटल मैनेजमेंट में ग्रेजुएशन किया है तो भी इस क्षेत्र में उच्च शिक्षा ले सकता है ।याद रहे फूड टेक्नोलॉजी के बी टेक कोर्स मे प्रवेश जेईई प्रवेश परीक्षा के माध्यम से होगा ।इसमें ज्यादातर कॉलेज बी टेक की डिग्री के साथ जेईई मेंस जैसी परीक्षा मे पास रैंक के आधार पर एडमिशन देते है ।

चुनौतियां ,अवसर और वेतन

इसमें चुनौतियां भी अधिक है याद रहे प्रोसेसिंग यूनिट्स में भारी मशीनों के बीच भी काम करना होता है लैबोरेट्री वर्क मे भी काम के दौरान बाहरी संपर्कों से दूरी बनानी पड़ती है बाजार की मांग के अनुसार हमेशा नया करने की चुनौती बनी रहती है । इसमें जो पद आपको मिल सकते है वो है हेल्थ इंस्पेक्टर , क्वॉलिटी कंट्रोल ऑफिसर , प्रोडेक्शन इंजीनियर , होटल ,रेस्त्रां, और फूड से जुड़ी कम्पनियों में अवसर मिलते है फूड टेक्नोलॉजी में शुरुआती वेतन 15 से 30 हजार मिलता है। सालाना पैकेज क़रीब 5 से 8 लाख मिलता है साथ अनुभव के हिसाब से वेतन मिलता है विदेश के अवसर बने रहते है ।

Leave a Comment