कुसुम योजना 2022 के बारे में जानिये | Latest Update

Prime Minister’s Farmer Energy Security and Upliftment Maha Abhiyan : किसानों को बल देने के लिए भारत सरकार ने कुसुम योजना (नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय ने 2019 में प्रधानमंत्री किसान ऊर्जा सुरक्षा एवं उत्थान महाअभियान) की शुरुआत की थी। इस योजना के तहत किसानों के लिए सौर पंप और ग्रिड से जुड़े अन्य सौर बिजली संयंत्र (solar power plant ) लगाये जाने का प्रावधान है। प्रधानमंत्री कुसुम योजना (Prime Minister Kusum Yojana) के तहत किसानों को सौर पंप लगाने के लिए छूट मिलती है। प्रधानमंत्री कुसुम योजना के तहत किसानों को सौर पंप लगाने के लिए बड़े पैमाने पर सरकारी सहायता मिलती है। कंपनी के मुताबिक सब्सिडी के बाद किसान को सौर पंप के लिए करीब एक चौथाई भुगतान ही करना पड़ता है।

इस योजना का उद्देश्य क्या है?

कुसुम योजना का मुख्य उद्देश्य देश के किसानों को मुफ्त में बिजली उपलब्ध करवाना है। इस योजना के तहत किसानों को सिंचाई के लिए सोलर पैनल की सुविधा दी जाती है। कुसुम योजना के जरिये किसान को दोहरा फायदा होगा और उनकी आमदनी में भी बढ़ोतरी होगी। दूसरा यदि किसान अधिक बिजली बनाकर ग्रिड को भेजते है। तो उन्हें उसका भी लाभ मिल सकेगा। केंद्र सरकार की कुसुम योजना के बारे में ज्यादा जानकारी प्राप्त करने के लिए https://mnre.gov.in  वेबसाइट पर विजिट किया जा सकता है। 

इस योजना के लिए रजिस्ट्रेशन कैसे कर सकते हैं?
अगर आप इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं तो आप ऑनलाइन तथा ऑफलाइन दोनों माध्यमों से आवेदन कर सकते हैं। इस योजना के अंतर्गत सौर ऊर्जा संयंत्र की स्थापना हेतु और भूमि लीज पर देने हेतु आवेदन किया जा सकता है। इस योजना का लाभ उन्हें ही मिल सकता है जिन्होंने अपनी भूमि लीज पर देने के लिए रजिस्ट्रेशन करवाया है। आवेदकों का नाम आरआरईसी द्वारा आधिकारिक वेबसाइट दी जाएगी। यदि आवेदकों का नाम आरआरईसी की वेबसाइट पर दी जाती है तो आप कुसुम योजना का लाभ उठा सकते हैं। इस योजना के अंतर्गत आवेदक को सौर ऊर्जा संयंत्र के लिए आवेदन करने के लिए ₹5000 प्रति मेगावाट तथा जीएसटी की दर से आवेदन शुल्क का भुगतान करना होगा। जोकि डिमांड ड्राफ्ट के रूप में किया जाएगा।

पीएम कुसुम योजना के लिए जरूरी दस्तावेज़ कौन कौन से हैं?
आधार कार्ड
राशन कार्ड
रजिस्ट्रेशन की कॉपी
ऑथराइजेशन लेटर
जमीन की जमाबंदी की कॉपी
चार्टर्ड अकाउंटेंट द्वारा जारी नेटवर्थ सर्टिफिकेट
मोबाइल नंबर
बैंक खाता विवरण
पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ

योजना की अधिक जानकारी के लिए नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय (MNRE) की आधिकारिक वेबसाइट www.mnre.gov.in पर विजिट करें अथवा टोल फ्री नंबर 1800-180-3333 डायर करें.

सोलर पंप लगाने का फायदा
PM Kusma Yojana की वेबसाइट के मुताबिक, सौर ऊर्जा अपनाने से डीजल के खर्च और प्रदूषण से मुक्ति मिलेगी. सोलर पंप लगाने के लिए केंद्र से 30 फीसदी और राज्य सरकार से 30 फीसदी की सब्सिडी मिलेगी. इसके अतिरिक्त बैंकों के द्वारा 30 फीसदी तक लोन की सुविधा मिल सकती है.

लोन का भुगतान डीजल होने वाले खर्चे की बचत से 5 या 6 वर्षों में हो जाएगा. सोलर पंप 25 साल तक चलेगा और इसका रखरखाव भी आसान है.

Frequently Asked Questions (FAQ)

प्रश्न (Question) 1 : कुसुम योजना की शुरुआत कब हुई थी?

उत्तर (Answer) : 2019 में

प्रश्न (Question) 2 : कुसुम योजना का उद्देश्य क्या है?

उत्तर (Answer) : देश के किसानों को मुफ्त में बिजली उपलब्ध करवाना है। 

प्रश्न (Question) 3 : इस योजना के लिए रजिस्ट्रेशन कैसे कर सकते हैं?

उत्तर (Answer) : ऑनलाइन तथा ऑफलाइन दोनों माध्यमों से आवेदन कर सकते हैं।

प्रश्न (Question) 4 :

उत्तर (Answer) :

प्रश्न (Question) 5 :

उत्तर (Answer) :

Leave a Comment