Reports : ट्विटर ने माना कि वो Right Wing विचारधारा को बढ़ावा देता है?

ट्विटर (Twitter) एक लोकप्रिय अमरीकी Microblogging और Social Networking Service है जिसमें यूजर अपनी बातों को ट्वीट कर सकते हैं और आपसे में बातचीत भी कर सकते हैं। इस प्लेटफॉर्म पर सभी को अपनी राय रखने की पूरी आजादी है चाहे वो कम्युनिस्ट हो, पूंजीवादी हो या समाजवादी हो। मगर हाल ही में कुछ ऐसा खुलासा हुआ है जो दर्शाता है कि ट्विटर का रुझान दंक्षिणपंथ (Right Wing) विचारधारा की ओर ज्यादा है।

सात देशों पर हुआ अध्ययन

ट्विटर ने अपने लाखों यूजरों पर किए गए एक अध्ययन में यह माना है कि वह वामपंथी विचारधारा के बजाय दक्षिणपंथी विचारधारा को ज्यादा तवज्जो देता है। गौर करने वाली बात यह है कि ट्विटर के इस अध्ययन में भारत शामिल नहीं था लेकिन अमेरिका, ब्रिटेन, कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, स्पेन और जापान जैसे सात देश शामिल जरूर थे।

विश्लेषण ने सवाल खड़े किये

यह पहली बार नहीं है जब ट्विटर पर पक्षपात के आरोप लग रहे हैं। इससे पहले अप्रैल में भी हुई एक स्टडी में सामने आया था कि काले लोगों की तुलना में ट्विटर गोरे व युवा चहरों को ज्यादा तरजीह देता है। तब भी ट्विटर पर कई लोगों ने सवाल खड़े किये थे और हालिया विश्लेषण के बाद भी लोग ट्विटर की निंदा कर रहे हैं। निंदा कर रहे लोगों का कहना है कि दक्षिणपंथी विचारधारा को बढ़ावा दे कर ट्विटर समाज में नफ़रत और ईर्ष्या परोसा रहा है।

बता दें कि ट्विटर के CEO जैक डोर्सी ने अबतक इस मुद्दे पर चुप्पी साधी हुई है। देखना मजेदार होगा कि आगे ट्विटर इस मसले पर क्या रवैया अपनाता है। क्योंकि सोशल मीडिया पर हर विचारधारा को बराबर जगह मिलनी चाहिए।

Leave a Comment