प्रेम दूरबीन से देखता है ईर्ष्या माइक्रोस्कोप से देखती है।

कभी-कभी केवल एक नेक काम और देखभाल किसी व्यक्ति के जीवन को बदलने के लिए काफी होती है

अपनी बुद्धि का प्रयोग हमेशा समाज कल्याण के लिए निश्वार्थ भाव से करना चाहिए।

धैर्य का छोटा हिस्सा भी एक टन उपदेश से बेहतर है.

गलती तब गलती है जब आप उसे दोहराते हैं। गलती से सीख लें और जीवन में सुधार करें।

''अधिक खबरें जानने के लिए-नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें''